Sunday, 12 March 2017

Holi Celebration In India: मुबारक हो प्रेम और भाईचारे की होली

holi celebration

होली भारत में मनाया जाने वाला दूसरा बड़ा त्यौहार है. यह एक ऐसा त्यौहार है जिसमे हर तरफ रंग बिखरे हुए नजर आते है. साथ ही बच्चे हो या बड़े सभी इस त्यौहार को बड़ी ही धूम धाम से मनाते है. कहते है कि होली एक ऐसा त्यौहार है जिसमे दुश्मन भी अपनी दुश्मनी भूलकर दोस्त बन जाते है.

और इस त्यौहार में सब अपने पुराने गीले सिकवे भूलकर एक दूसरे को रंग लगाकर अपनी ख़ुशी बयां करते है. होली के त्यौहार को वैसे तो सदियो से मनाया जा रहा है. इसके पीछे एक बड़ी ही पुराणी कथा है. कहते है कि दुष्ट राजा हिरणाकश्यप ने भगवान विष्णु के भक्त अपने बेटे प्रह्लाद को कई बार मारने का प्रयास कर चूका था एक बार उसने अपनी बहन होलिका से कहा कि वो प्रह्लाद को लेकर जलती हुई अग्नि में बैठ जाये.


और होलिका ने भी अपने भाई के आदेश का पालन किया. क्योकि होलिका के पास एक ऐसी चादर थी जिससे कि वो आग से भी जल नहीं सकती थी.लेकिन भगवान् विष्णु की एक ऐसी कृपा हुई की चादर उड़कर प्रह्लाद पर आ गई और होलिका अग्नी में जलगाई और प्रह्लाद बच गया. तभी से होली का त्यौहार मनाया जाता है.

सम्बंधित लेख...