Thursday, 1 September 2016

सावधान:नागार्जुन का ब्रह्मराक्षस रूपी कवच,झमेला है महज़

फ़िल्मी टीवी सिरिअल्स में तो मैथोलोजिकल सिरिअल्स की बाढ़-सी आ गई है, हर चैनल न कोई ऐसा अजीबो-गरीब सीरियल ला रहा है, जिससे दर्शक उनकी और खींचे चले आये। हाल ही में तीन प्रमुख चैनल ने ऐसे सीरियल टेलीकास्ट किये है जिनको देखकर ऐसा लगता है, कि इन फ़िल्मी प्रोड्यूसर्स ने दर्शकों को उल्लू बनाने का कोई कॉन्ट्रैक्ट ले रखा है।   

 Kavach....kaali shaktiyon se -

Alt Tag to HTML image code

नागिन की अपार सफलता बाद हमारी एकता दीदी लाई है कलर्स पर कवच.... काली शक्तियों से, पर लगता है एकता जी ने पूरी तरह से जनता को बेवकूफ समझ लिया है, तभी तो कवच की लीड एक्ट्रेस मर्द सिंह.... सॉरी ....सॉरी - मोना सिंह को बनाया है।  उस पर तुर्रा यह कि लीड हीरो मोना सिंह से कम से कम दस साल छोटा लगता है।  मेडम भूतनी को भी दो बार चुकी है।

बालाजी की पिशाचनी भी काफी हाइटेक है जो तिस साल पहले मरने के बाद भी टच स्क्रीन मोबाइल से 4जी की स्पीड से कॉल करती फिरती है। जैसे नागिन ने लीड एक्टर पर जान लेवा हमला नदी किनारे होता है, सेम टू सेम हमला कवच में भी लीड एक्टर पर होता है। जैसी वेम्प नागिन में बताई सेम टू सेम कवच में भी अधेड़ उम्र की वेम्प (पिशाचनी) है...... धन्य है एकता की टीवी माया।  

Brahmarakshas.... jaag utha shaitan -



अब बात करते ज़ी टीवी के हॉरर शो ब्रम्हराक्षस की जो कमल के फूल और राजगिरे के पौधे से डरता है, और ठीक जानी दुश्मन भूत की तरह लाल चूड़ा, लाल जोड़ा, मंगलसूत्र,सिंदूर से भड़कता है, और क़त्ल करता फिरता है, पर इसके डायरेक्टर साहब भी अपनी राह भटक गए है ब्रह्मराक्षस भाई अब तो बिना चूड़ा व् लाल जोड़े के ही हत्या करते फिर रहे है, आदमी-औरत सभी को एक नजर से देखकर इन्साफ करते फिर रहे है।  ज़ी टीवी  हमको नए डरावने भूत से मिलवाकर भूतों की लिस्ट में एक नए नाम का इजाफा कर दिया है।  

Nagarjun....ek yoddha-



लाइफ ओके टीवी चैनल  वाले भी क्या खूब सापों की बाढ़ लाए है, मैं तो क्या अच्छे से अच्छा धर्म का जानकार भी इस में उलझकर रह गया है, सबसे बुरा सांप तो बिचारा तक्षक है, और यह आस्तिका महाराज कहाँ भारतीय इतिहास की गहराइयों में खोए हुए थे-वासुकि के बारे में तो हमने भी सुना है, लेकिन महाभारत की जो ऐसी-तेसी करने का श्रेय इस स्टोरी के राइटर को जाता है, वो तो क़ाबिले-तारीफ़ है।  जैसा कि सभी जानते हैं कि अर्जुन की दो पत्नियां थी- सुभद्रा और द्रोपदी, फिर ये दो नागिन पत्निया कहाँ से आ गई। 

महाभारत के युद्ध में पांडवों का एक मात्र वंशज अभिमन्यु का पुत्र था जो उस समय गर्भ में स्थित था, तो यह गबरू वाहन महाभारत युद्ध के बाद कैसे आया ? राजा परीक्षित के शरीर में कलयुग को प्रवेश करता इस सीरियल में दिखाया गया है, जबकि पुराणों के अनुसार स्वर्ण में कलयुग को स्थान देने के कारण स्वर्ण मुकुट धारण करने से परीक्षित की मति भ्रमित हुई थी।  अब जनता ही बतायें की ये फ़िल्मी प्रोड्यूसर हम मासूम दर्शकों को  तक बेवकूफ बनाकर ऐसे अपनी रोटियां सकेंगे ???