Friday, 23 March 2012

ना दूध ना चाय बस दारु-सुट्टा मांगता है

                    
                         दिल तो बच्चा है जी
                    ना दूध ना चाय माँगता है जी
                              उठते सोते बस दारु-सुट्टा माँगता है जी 
                चूँकि दिल तो बच्चा है जी |

       हर गली-दौराहे-तिराहे और चौराह पर 
   गुजरती हुई कमसिन कुड़ियों को 
 पीछे से छेड़-छाड़ करता है जी 
चूँकि दिल तो बच्चा है जी |

 सफ्ताह भर से वस्त्र नहीं बदले 
चार दिन से नहाए नहीं 
और दो दिन से गए नहीं जी 
चूँकि दिल तो बच्चा है जी |

नौकरी की कोई टेंशन ना जी 
एक लौते पिताजी पोलिटिक्स में नंबर वन जी
अंडरवर्ल्ड डोन बनने को मन चाहे जी 
चूँकि दिल तो बच्चा है जी |

बायफ्रेंड्स तो पोपुलेशन है जी
बस एक सोणी-सी गर्लफ्रेंड चाहे जी
रब्बा मेल करा दे जी 
चूँकि दिल तो बच्चा है जी |