और फिर दोस्त, दोस्त न रहा

और फिर दोस्त, दोस्त न रहाऔर फिर दोस्त, दोस्त न रहा


अपने दोस्ती की बहुत सी कहानी सुनी होंगी लेकिन आज में आपको एक एसी दोस्ती की कहानी बताने जा रहा हूँ. जहाँ दोस्त दोस्त ही नही रहे. दरअसल बात उन दिनों की है जब राहुल ने स्कुल की पढाई पूरी करने के बाद कोलेज में एडमिशन लिया. राहुल कालेज जाकर बहुत खुश था. ख़ुशी इतनी की वो इस लाइफ को भूल ही नहीं पा रहा था. धीरे धीरे राहुल के इस कोलेज में दोस्त बने. राहुल के इन दोस्तों में ख़ास थे अभय, अमूल, नरेन्द्र और रामू. इनमे से अभय, अमूल और नरेन्द्र , राहुल के साथ कालेज में पढ़ते थे.

और फिर दोस्त, दोस्त न रहा

और फिर दोस्त, दोस्त न रहा

वही रामू और राहुल बचपन के दोस्त थे. एक ही महीने में जन्मे एक साथ ही बचपन गुजारा और बड़े तक साथ रहे रामू और राहुल की दोस्ती कुछ जय और वीरू की तरह पक्की थी. पर धीरे धीरे समय के साथ दोनों बड़े हो गए राहे अलग हो गई. राहुल अपने कालेज के दोस्तों के साथ में व्यस्त हो गया और रामू अपने काम और दोस्तों में. फिर राहुल के जीवन में प्यार आया उसे एक लड़की से प्यार हो गया. जिसकी बात उसने सारे दोस्तों को बताई और सभी खुश हुए.  जहाँ रामू ने तो राहुल के उस प्यार को आगे तक ले जाने और शादी तक की योजना पर विचार शुरू कर दिया. लेकिन राहुल के दोस्तों में एक दोस्त एसा जो भीतर ही भीतर राहुल से जलता उसे घ्रणा करता था. वो था उसके कालेज का दोस्त अमूल. अमूल भीतर ही भीतर राहुल से जलने लगा था.



कारण राहुल का हर चीज में आगे बढ़ना. उसके दोस्तों में उसकी पूछ परख होना और वही राहुल को प्यार हो जान. यह सब अमूल की आँखों में चुभने लगा. धीरे धीरे अमूल के मन में नफरत बढती गई और उसने ठानी राहुल को परेशान करने की और अभय और नरेन्द्र भी इस बात को पूरी तरह जानते थे. उन्होंने प्रयास किया अमूल को समझाने का. लेकिन अमूल के मन में घ्रणा और प्रेम इतना बढ़ गया था कि उसे राहुल से बदला लेने के सिवा कुछ सूझ ही नी रा था. और ऐसे में बदले की भावना बढती गई. और अमूल ने राहुल से बदला लेने के लिए उसका फायदा उठाना शुरू किया उसके प्यार को भी दूर कर दिया और दोस्तों के बिच भी आग लगाना शुरू कर दी.



ऐसे में राहुल को इस बात का एहसास हुआ और उसे सबसे दुरी बना ली. लेकिन सब कुछ दूर होने के बाद जब अमूल को अपनी गलती का एहसास हुआ तो उसने राहुल से माफ़ी मांगी. और अन्य सभी दोस्तों ने भी राहुल से अमूल को आसानी से माफ़ करने के लिए कहा. लेकिन अमूल की गलित और नरेन्द्र और अभय का इस बात को छिपाना राहुल को नागवार गुजरा और उसने सबको माफ़ तो कर दिया पर वो सबको पहले जैसा दोस्त नहीं बना सका और न ही सबके बिच पहले जैसी दोस्ती रही.  इसमें गलती किसकी थी कौन था सबके दूर होने का कारण आप हमें कमेन्ट में बता सकते है.

 

बाजार में आने वाला है अचारी फ्लेवर्ड कंडोम, उड़ा मजाक

रिसर्च में खुलासा, शराब पिने से होता है दिमाग तेज

क्या आप जानते है लड़कियों के शर्ट में क्यों नहीं होता है जेब

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Related Post

Be the first to comment

Leave a comment

Your email address will not be published.


*