Mothers Day : माँ शब्द है वात्सल्य से भरा हुआ ब्रह्माण्ड

mothersdaycelebmothersdayceleb


Mother’s Day : कवि ने भी क्या खूब कहा है,”ऐ माँ तेरी सूरत से भली भगवान् की सूरत क्या होंगी” सही भी तो है कि जब संतान इस संसार में जन्म लेती है तो वह सबसे पहले अपनी माँ का दर्शन करती है| एक माँ ही होती है, जो उसको सजाती,सवारती,दुलारती और पालती है|इंसान ने भगवान् को तो नहीं देखा पर धरती पर विद्यमान उसकी इस अनुपम दिव्य कृति को देखा है| आज के दौर में माँ की भूमिकाओ में काफी परिवर्तन आया है|

माँ अब केवल वर्किंग मदर घर तक सीमित नहीं रह गई है. बल्कि घर की दहलीज पार कर अपने बच्चो के सुखद भविष्य के लिये नौकरी के साथ-साथ घर भी सम्भाल रही है| ऐसी ही एक माँ को मैं जानती हूँ. जो अपने बच्चो का भविष्य बनाने के लिये घर की दहलीज लांघ कर एक बड़ी फेक्ट्री की मशीन आपरेटर का काम करती है| और शाम को जब वह थकी हारी अपने घरौंदे पर लौटती है तो एक खुशहाल मुस्कान सजाए, अपने बच्चो का स्वागत करती मिलती है| वह अपने बच्चो की अच्छी तालिम दिलाने के लिये निरंतर संघर्ष में लगी है कि कैसे भी करके उसके बच्चे कुछ बन जाए,वे शिक्षा से वंचित ना रहे|

1. हाउस वाईफ माम-: बहुत सी महिलाए आज भी अपने घर-परिवार व बच्चो के चलते बाहर निकलकर काम नहीं कर रही हैं. पुरे परिवार की जिम्मेदारी उनके सिर पर होती है| ये वो माँए होती है जो खुद भूखी रहती है, पर अपने बच्चो को कभी भूखा नहीं रखती, बच्चो की पढाई भी यह अपने जिम्मे रखती है| रात-रात भर जागकर अपने बच्चो की एक्जाम प्रिपेयर करवाती है,एक पाँव पर खड़ी रहकर परिवार के हर सदस्य की आवश्यकता की पूर्ति करती है तो, वो भी बिना किसी आशा के साथ,धन्य है वो माँ.

सिंगल मदर-: वैसे सिंगल मदर का कनसेंट नया है पर यदि हम इस और ध्यान दे तो सदियों से यह परम्परा हमारे देश में भी चली आ रही है| परित्यक महिलाए विधवा,तलाक शुदा,माताए हमारे देश में लम्बे समय से रही है| जिन्होंने अपने दम पर अपनी संतानों को ना केवल पाला-पौसा है, अपितु बेहतर और उर्जावान भविष्य भी दिया है| हमारे आस-पास हम नजर दौडाए तो असंख्य स्वालम्बी सिंगल मदर हमारे सामने होंगी, जिन्हें देखकर उनके सजदे में हमारा सिर झुक जाएगा | बालीवुड अभिनेत्री सुष्मिता सेन इन बात का उदहारण है|

वास्तव में दोस्तों वो माँ ही तो है, जो बिना कहे अपने बच्चे का हर दर्द समझ लेती है| माँ ईश्वर की अनुपम शक्ति है जो हमें उसके होने का एहसास कराती है, धन्य है वो इंसान जिसके पास भगवान के रूप में माँ है |

Related Post

Be the first to comment

Leave a comment

Your email address will not be published.


*