नींद न आने से हो परेशान तो अपनाएं 4-7-8 का फॉर्मूला, 2 मिनट में आ जाएगी नींद



आज की तनावभरी ज़िन्दगी में अक्सर लोगों को नींद न आने की समस्या से जूझना पड़ता है. नींद न आने की समस्या आजकल आम हो गई है. हमारे या आपके पास भी कई लोग ऐसे है, जो नींद आने की समस्या से पीड़ित है. कई बार खुद हम भी नींद न आने से परेशान रहते है.

ऐसे में आज हम आपको एक ऐसा तरीका बताने जा रहे है, जिससे आपको अच्छी नींद आएगी. एक रिपोर्ट के अनुसार आप ’4-7-8′ का फॉर्मूला अपनाकर एक अच्छीं और गहरी नींद सो सकते हैं. अब आप सोच रहे होंगे कि यह ’4-7-8′ का फॉर्मूला है क्या? तो बता दे कि यह फॉर्मूला तनाव मुक्त गहरी नींद लेने में आपकी मदद करेगा.

यह फार्मूला अपनाएँ-

इसके लिए सबसे पहले बिस्तर पर शरीर को पूरी तरह स्थिर रखे और फिर इसके बाद 4 सेकंड तक नाक से गहरी सांस लें. इसके बाद अगले 7 सेकंड तक सांस रोके रखें और फिर अगले 8 सेकंड तक मुंह से धीरे-धीरे सांस बाहर निकाल दें. इससे आपको तुरंत अच्छी नींद आ जाएगी. भले ही शुरुआत में यह फॉर्मूला सुनने में थोड़ा अजीब लगे, लेकिन इसके पीछे वैज्ञानिक आधार भी है.

वैज्ञानिक राय-

वैज्ञानिकों का कहना है कि 4-7-8 एक तरह की श्वास की एक्सरसाइज है, जो दर्द दूर करने वाली दवा की तरह काम करती है. यह प्रकिया हमारी धड़कनों को शांत करती है, जिससे पूरा शरीर तेजी से स्थित होता है. यह फिजियोलॉजी का हिस्सा है. यह प्रक्रिया मन को भी शांत करती है, इस दौरान आपका ध्यान अपनी सांस पर होता है.

इसी दौरान आपको पता भी नहीं चलता और नर्वस सिस्टम धीरे-धीरे अपनी एक्टिविटी घटा देता है. इससे तनाव दूर हो जाता है. न्यूरोलॉजिस्ट इस बात की पुष्टि कर चुके हैं. क्योंकि नींद आने का कारण तनाव और चिंता होता है, जिससे हमारे ब्लड में अड्रेनलन नामक कैमिकल की मात्रा बढ़ जाती है. ऐसे में इस प्रकिया से तनाव दूर हो जाता है और हमें नींद आ जाती है. विदेश में कई लोग इस फंडे को कामयाबी पूर्वक अपना रहे हैं. हार्वर्ड मेडिकल के डॉक्टर एंड्रयू विल ने भी 4-7-8 फॉर्मूले का अध्ययन किया है और पाया कि यह पद्धति पूरी तरह कारगार है. इसी को भारत में योग भी कहते है.

 

आपके मोटे पेट को चर्बी से दिलाएंगे मुक्ति, ये 4 प्रकार के क्रंचेस

बेकिंग सोडा का इस्तेमाल कर अपने आप को बनाएं खूबसूरत

महिलाये होती है पुरुषो से ज्यादा स्ट्रांग,कैसे

Related Post

Be the first to comment

Leave a comment

Your email address will not be published.


*